नगर निगम में एक सप्ताह के दौरान 560 कर्मचारियों की भी सेवाएं समाप्त कर दी गईं।

कर्मचारियों ने बुधवार को सेक्टर-34 स्थित नगर निगम कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।
कर्मचारियों ने बुधवार को सेक्टर-34 स्थित नगर निगम कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया।

गुड़गांव :- नगर निगम में एक सप्ताह के दौरान 560 कर्मचारियों की भी सेवाएं समाप्त कर दी गईं। ये सभी निगम की विभिन्न शाखाओं में आउटसोर्स पॉलिसी के जरिए नियुक्त किए गए थे और इनमें कई तो काफी सालों से कार्यरत थे। निगम अधिकारियों का तर्क है कि मैनपावर ज्यादा होने के कारण अब इन कर्मचारियों की जरूरत नहीं है।

स्वैट कमांडो हेड कांस्टेबल सतेंद्र की आधी रात संदिग्ध परिस्थिति में मौत..

ये सभी कर्मचारी निगम में गार्ड (सुरक्षाकर्मी), कंप्यूटर क्लर्क, चपरासी, पंप ऑपरेटर, माली सहित अन्य पदों पर तैनात थे। एक साथ इतनी संख्या में पहली बार नगर निगम में छंटनी की गई है। गत शुक्रवार और अब सोमवार को दो बार में कुल 523 कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया। जिनमें पंप सहायक 38, चपरासी 31, पंप ऑपरेटर 45, कंप्यूटर क्लर्क 89, बेलदार 11, बिल डिस्ट्रीब्यूटर 6, चौकीदार 14, व 1 डीजल इंजन ऑपरेटर शामिल है।

nextinformation

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

एनसीबी - रिया कोई मासूम नहीं, सुशांत को ड्रग्स के जाल में उलझाने के लिए ही उसके पास गई थी

Thu Oct 1 , 2020
मुंबई :- अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े ड्रग्स मामले में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने गिरफ्तार अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोविक की बॉम्बे हाई कोर्ट में दायर जमानत याचिकाओं का विरोध किया है। एनसीबी ने कहा कि दोनों ने ड्रग्स की खरीद-फरोख्त को बढ़ावा दिया […]
रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत अप्रैल 2019 से एक-दूसरे के साथ थे।